इंटरनेट पर एक खबर बहुत ही तेजी के साथ वायरल हो रही है। उस खबर के मुताबिक सी जिनपिंग को हाउस अरेस्ट कर लिया गया है। अब तक 60% फ्लाइट कैंसिल कर दी गई है। इसके साथ-साथ ट्रेन भी कैंसिल कर दी गई है। लेकिन इस खबर की हम पुष्टि नहीं कर सकते हैं। क्योंकि चाइना एक लोकतांत्रिक देश नहीं है।

वहां पर अथॉरिटेरियन रिजिम है। तो चाइना से निकलने वाली खबरों की पुष्टि नहीं की जा सकती है। शी जिनपिंग 2 साल से चाइना के बाहर नहीं निकले थे। ना ही उन्होंने कोई इंटरनेशनल मीटिंग अटेंड की थी। शी जिनपिंग ने 2 साल के बाद कुछ दिनों पहले समरकंद में हुई SCO की मीटिंग अटेंड की हैं।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, चाइना में हो रही सभी चीजों को इस समय Hu Jintao के द्वारा कंट्रोल किया जा रहा है। चाइना में पिछले 10 दिनों से कई सारी पॉलिटिकल मीटिंग चल रही है। लेकिन इन सभी महत्वपूर्ण पॉलिटिकल मीटिंग्स में शी जिनपिंग को नहीं देखा गया है। उनको इन सभी मीटिंग्स से बाहर रखा गया है।

पीएलए मिलिट्री का काफिला बीजिंग की तरफ बढ़ चुका है। बीजिंग को मिलिट्री फोर्ट में तब्दील कर दिया गया है। पीएलए ने हाईवेज को ब्लॉक कर दिया है। पीएलए ने बीजिंग के आसपास के 80 किलोमीटर के दायरे को घेर लिया है। कोई भी बीजिंग से बाहर नहीं जा सकता है। बीजिंग एयरपोर्ट से 6000 डोमेस्टिक और इंटरनेशनल फ्लाइट्स को कैंसिल करने की खबर की पुष्टि की जा रही है।

हाई स्पीड रेल के टिकट्स को भी कैंसिल कर दिया गया है। इस खबर की सभी लोग पुष्टि कर रहे हैं। शी जिनपिंग ने खुद को लाइफ टाइम के लिए प्रेसिडेंट बना लिया था। इससे सीसीपी के कुछ लोग खुश नहीं थे।  क्योंकि उनके प्रेसिडेंट बनने के चांसेस बिल्कुल ही खत्म हो चुके थे। इसीलिए यह कयास लगाए जा रहे हैं कि शी जिनपिंग को पीएलए के अध्यक्ष के पद से हटा दिया गया है।

इसके साथ साथ हम देख रहे हैं कि शी जिनपिंग की लीडरशिप के अंतर्गत ही चाइना का जो सप्लाई चैन पर कब्जा था। वह अब धीरे धीरे ढीला पड़ता जा रहा है। बड़ी-बड़ी कंपनियां अपनी मैन्युफैक्चरिंग यूनिट्स को वियतनाम और इंडिया जैसे देशों में शिफ्ट कर रही है।

By TSH

Leave a Reply

Your email address will not be published.